calcium ki kami ke gharelu upay

calcium ki kami ke gharelu upay

 कैल्शियम की कमी से शरीर में दर्द जोड़ों व कमर दर्द का घरेलू ईलाज

ज्‍यादातर आपने देखा होगा बहुत लोग थकान महसूस करते हैं बहुत ज्‍यादा कमजोरी महसूस करते हैं। उनकी टांगों में बहुत दर्द होता है। उनके शरीर में बहुत दर्द होता है। उसके लिए वह लोग कोई न कोई दवाई जरूर खाते हैं, लेकिन आपको बता दें दवाई खाना किसी चीज का परफेक्‍ट ईलाज नहीं है। अगर आप इसका परमानेंट ईलाज करना चाहते हैं तो इसके बारे में जड़ से जानना बहुत जरूरी है। हमारे शरीर में दर्द मसल में दर्द जोड़ों में दर्द आखिर क्‍यों होता है।

calcium ki kami ke gharelu upay

 

कैल्शियम की कमी क्‍या है?

कैल्शियम एक महत्‍वपूर्ण खनिज होता है। कैल्शियम हमारे शरीर में दांत और हडिडयों को मजबूत करने के‍ लिए भूमिका अदा करता है। 99 प्रतिशत कैल्शियम हमारे दांत और हडि़डयों में होता है, बाकी शरीर में बचा 1 प्रतिशत कैल्शियम अन्‍य कार्य में सहायता करता है।

 

कैल्शियम की कमी के लक्षण

अगर आपके भी शरीर में दर्द रहता है। जोड़ो में दर्द रहता है। कमर में दर्द रहता है। हडिडयों में दर्द व कमजोर हैं। हडिडयों से कट-कट की आवाज आती है। चलते-उठते-बैठते समय बहत तकलीफ होती है। आपको काम करते समय बहुत जल्‍दी थकान हो जाती है। रात को नींद न आने की समस्‍या रहती है। हमेशा ही टेंशन स्‍ट्रेस तनाव बना रहता है। बाल बहुत जल्‍दी झड़ जाते हैं। बाल समय से पहले सफेद हो रहे हैं। चेहरे पर डलनेस है तो इसका सीधा-सा मतलब है शरीर में कैल्शियम की कमी है।

 

कैल्शियम की जरूरत हमारे शरीर को क्‍यों हैं?

कैल्शियम की जरूरत हमारी हडिडयों को ही नहीं बल्कि पूरे शरीर को ही कैल्शियम की जरूरत होती है। शरीर की हर एक कोशिका हर एक सेल्‍स के लिए बहुत जरूरी है। जैसे-जैसे इंसान की उम्र बढ़ती जाती है उसकी काम करने की क्षमता कम होती जाती है।

वह बहुत कमजोर होने लगता है, उसके साथ-साथ उसका पाचन तंत्र भी कमजोर हो जाता है। जैसे ही किसी इंसान की उम्र 35 से 40 साल की होती है तो उस समय कैल्शियम को अवशोषित करने की क्षमता कम हो जाती है। ऐसे में शरीर में कैल्शियम होना लाजमी है।

 

कैल्शियम की कमी के कारण

कुछ लागों को ज्‍यादा मीठा खाने की आदत होती है। कुल लोग ऑइली फूड बहुत ज्‍यादा खाते हैं। इस कारण से भी शरीर में कैल्शियम की कमी हो जाती है। यह जरूरी नहीं है कि 35 से 40 वर्ष की उम्र में ही कैल्शियम की कमी हो यह किसी भी इंसान में हो सकती है। जैसे- बुजुर्ग, जवान, बच्‍चे, महिलाएं आदि। आजकल के समय में लोग बहुत ज्‍यादा अनहैल्‍दी खाना खाते हैं जिसके कारण कैल्शियम की कमी होती है। महिलाओं के अंदर सबसे ज्‍यादा कैल्शियम की कमी होती है, क्‍योंकि महिलाओं को कई दौर से गुजारना पड़ता है। जैसे मासिक धर्म, प्रेगनेंसी, ब्रेस्‍टफीडिंग, मेनोपॉज इन सभी के कारण महिलाओं के अंदर हार्मोन चेंजिग ज्‍यादा होते हैं और कैल्शियम की कमी ज्‍यादा होती है।

जो लोग कोल्‍ड ड्रिंक का सेवन ज्‍यादा करते हैं यानि कि सॉफट ड्रिंक ज्‍यादा पीते हैं। सोडे वाले चीजों का सेवन ज्‍यादा करते हैं उसके कारण शरीर में कैल्शियम की कमी होती है। जो लोग चाय और कॉफी का सेवन ज्‍यादा करते हैं, उसके कारण भी कैल्शियम की कमी हो जाती है।

 

कैल्शियम की कमी से शरीर में दर्द जोड़ो व कमर में दर्द का घरेलू ईलाज

 

1. हल्‍दी-बादाम वाला दूध -:

 

हल्‍दी-बादाम वाला दूध

आपने 5 बादाम भिगो देने हैं कम से कम 5 घंटों के लिए। उसके बाद आपने एक गिलास दूध को बर्तन में डालकर गर्म करने के लिए रख देना है। उसके अंदर आपने भीगे हुए बादाम को कददूकस करके डाल देना है। एक उबाल आने के बाद दूध को उतार दीजिए, इसे एक कप में डाल लेना है। उसके बाद आपने एक चुटकी हल्‍दी दूध के अंदर मिक्‍स कर देनी है।

ध्‍यान रहे आपने हल्‍दी को पकाना नहीं है। दूध गर्म होने के बाद ही हल्‍दी को दूध में डालना है। आपने 15 दिन तो जरूर इसका सेवन करना है। आप मिठास के लिए इसके अंदर गुड भी मिक्‍स कर सकते हैं। इस दूध का सेवन आपने रात के समय करना है। यह दूध पीने के बाद सोना नहीं है। कम से कम 15 से 20 मिनट पैदल जरूर चलिए।

 

2. रागी – Millet -:

 

रागी – Millet

रोगी के अंदर किसी भी अन्‍य चीज से ज्‍यादा कैल्शियम होता है। आपने रागी को हल्‍का-हल्‍का भून लेना है। उसके बाद इसको ठंडा करके पाउडर बना लीजिए। दूध के अंदर डालकर एक उबाल दीजिए। उसके बाद गुनगुना होने पर इसे पी लीजिए। यह दूध आपने सुबह नाश्‍ते के समय पीना है। ऐसा करने से शरीर में कैल्शियम की कमी पूरी होती है। इस दूध का सेवन आप 3 महीने तक रोजाना कर सकते हैं। यह हमारे हडिडयों को मजबूती देती हैं, बुढ़ापे को कोसों दूर रखती हैं।

 

3. कैल्शियम की पूर्ति के लिए सब्जियां -:

 

कैल्शियम की पूर्ति के लिए सब्जियां

चुकंदर, नींबू, पालक, बथुआ, बैंगन, टिंडी, तोरी, लहसुन, गाजर, भिंडी, टमाटर, पुदीना, हरा-धनिया, करेला, ककड़ी, अरबी, मूली के पत्‍ते आदि चीजों के अंदर बहुत अच्‍छी मात्रा में कैल्शियम होता है। आप इनका सेवन जरूर करें।

 

4. कैल्शियम की पूर्ति के लिए ड्राई फ्रूट –:

 

कैल्शियम की पूर्ति के लिए ड्राई फ्रूट

मुनक्‍क, पिस्‍ता, खजूद आदि के अंदर बहुत अच्‍छी मात्रा में कैल्शियम होता है।

 

5. कैल्शियम की पूर्ति के लिए दाले -:

 

कैल्शियम की पूर्ति के लिए दाले

कैल्शियम की पूर्ति के लिए कुछ दाले हैं जैसे चने की दाल, राजमा, सोयाबीन आदि के अंदर बहुत अच्‍छी मात्रा में कैल्शियम होता है।

 

6. कैल्शियम की पूर्ति के लिए फ्रूट -:

 

कैल्शियम की पूर्ति के लिए फ्रूट

पानी वाला नारियल, संतरा, अनानास आदि के अंदर बहुत अच्‍छी मात्रा में कैल्शियम होता है।

 

7. कुछ चीजें जिन्‍हें आहार में शामिल कीजिए -:

 

दही, छाछ

दूध व दूध से बनी चीजों का सेवन जरूर करें। जैसे- दही, छाछ आदि।

Post a Comment

0 Comments